भारत और चीन के बीच झणप एक भारतीय अधिकारी सहित दो जवान शहीद

भारत और चीन के बीच झणप एक भारतीय अधिकारी सहित दो जवान शहीद

सूचना के स्त्रोत इंटरनेट


लेबनान में 'परमाणु बम जैसा' धमाका, 4000 लोग घायल,...

भारत और चीन के बीच सीमा पर पिछले कई दिनों से जारी तनाव के बीच बड़ी खबर सामने आई है। रिपोर्ट्स के अनुसार लद्दाख के गलवान घाटी में भारत और चीनी सैनिकों के बीच ‘हिंसक झड़प’ में एक भारतीय अफसर और दो जवान शहीद हो गये हैं। भारतीय सेना के अनुसार ये घटना बीती रात की है।


बड़ी खबर: कोरोना वायरस के कारण रद्द हो सकता है आईपीएल,...

सेना ने एक संक्षिप्त बयान में कहा, ‘गलवान घाटी में तनाव कम करने की प्रक्रिया के दौरान सोमवार रात हिंसक टकराव हो गया।

फिलहाल इस बात की भी जानकारी नहीं मिल सकी है कि चीन की तरफ कितना नुकसान हुआ है। हालांकि, ऐसा मीडिया रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि चीन के कुछ सैनिकों को भी चोटें लगी हैं।


लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले अब तक 2414 लोग गिरफ्तार,...

इस इलाके में पिछले दो हफ्ते से दोनों देशों की सेनाओं के बीच तनातनी जारी है। भारतीय सेना की ओर से एक अधिकारिक बयान में बताया गया है, ‘गलवान घाटी में डि-एस्केलेशन प्रक्रिया के दौरान, कल रात एक हिंसक झड़प हुई। भारत की ओर से एक अधिकारी और दो सैनिकों की जान चली गई है। दोनों पक्षों के वरिष्ठ सैन्य अधिकारी फिलहाल स्थिति को शांत करने के लिए बैठक कर रहे हैं।’


बॉलीवुड अभिनेता ऋषि कपूर का निधन, अमिताभ बच्चन ने...

यह घटना भारतीय सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे के उस बयान के कुछ दिन बाद हुई है, जिसमें उन्होंने कहा था कि दोनों देशों के सैनिक गलवान घाटी से पीछे हट रहे हैं।


स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने WHO के एक्जीक्यूटिव...

बता दें कि पूर्वी लद्दाख में गतिरोध के बाद दोनों पक्षों ने पिछले कुछ दिन में उत्तरी सिक्किम, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और अरुणाचल प्रदेश में एलएसी पर अतिरिक्त सैनिकों को तैनात किया है। हालांकि, बातचीत के बाद दोनों देशों की ओर से अपने रवैये में नरमी के भी संकेत दिए गए थे।

इससे पहले दोनों देशों के सैनिक गत पांच और छह मई को पूर्वी लद्दाख के पैंगोंग सो क्षेत्र में आपस में भिड़ गए थे। इस घटना में दोनों पक्षों के सैनिक घायल हुए थे। इस झड़प में भारत और चीन के करीब 250 सैनिक शामिल थे। इसी तरह की एक अन्य घटना में नौ मई को उत्तरी सिक्किम सेक्टर में नाकू ला दर्रे के पास लगभग 150 भारतीय और चीनी सैनिक आपस में भिड़ गए थे।