कर्मियों को दिलायी गई मद्यनिषेध की शपथ

कर्मियों को दिलायी गई मद्यनिषेध की शपथ

- 11.30 बजे से मुख्य समारोह की लाइव वेबकास्टिंग जिला, अनुमंडल एवं प्रखंडस्तर पर की गई 

बेतिया, 26 नवम्बर। पश्चिमी चम्पारण जिले में नशामुक्ति दिवस पर कई जगहों पर जन जागृति के लिए कई  कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी कुन्दन कुमार द्वारा नशा सेवन की बुराइयों एवं नशामुक्ति के लाभ को आमजन के बीच प्रचारित-प्रसारित करने का निदेश दिया गया। जिलाधिकारी  ने कहा कि जिले में नशा सेवन की बुराइयों एवं नशामुक्ति के लाभ को आमजन के बीच व्यापक स्तर पर प्रचारित एवं प्रसारित करना है, ताकि आमजन नशा का सेवन नहीं करें तथा खुशहाल जीवन व्यतीत करें। जिलाधिकारी ,कार्यालय प्रकोष्ठ में आयोजित समीक्षात्मक बैठक के दौरान अधिकारियों को निदेशित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जीविका दीदियों के माध्यम से नशा की बुराइयों की जानकारी एवं नशामुक्ति से होने वाले लाभ की जानकारी आम लोगों में प्रचारित करते हुए नशा के विरुद्ध जन चेतना जागृत करने के लिए अभियान में तेजी लाई जाए। इस अवसर पर डीपीएम, जीविका को संवेदनशील स्थल जहां शराब की बिक्री, सेवन आदि की घटनाएं पूर्व में हो चुकी हैं, वहां व्यापक स्तर पर जीविका दीदियों के माध्यम से जनजागरूकता अभियान चलाने का निदेश जिलाधिकारी द्वारा दिया गया है।
उन्होंने कार्यपालक अभियंता, विद्युत को निदेश दिया गया कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में अधिष्ठापित सभी ट्रांसफॉर्मर एवं विद्युत पोलों पर मद्यपान वर्जित है, की वैधानिक चेतावनी तथा टॉल फ्री नंबर-15545 तथा18003456268 अंकित कराया जाय। साथ ही विद्युत विपत्रों पर भी नशा पान नहीं करने को  जागरूकता संदेश अंकित कराने की कार्रवाई सुनिश्चित करने का निदेश जिलाधिकारी द्वारा दिया गया है। 

- बैनर, पोस्टर, नुक्कड़ नाटक, द्वारा लोगों को नशा के प्रति किया गया जागरूक:
जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी एवं जिला शिक्षा पदाधिकारी द्वारा जगह जगह होर्डिंग, फ्लेक्स, बैनर, पोस्टर, नुक्कड़ नाटक, दिवाल लेखन, प्रभातफेरी, रैली, रंगोली प्रतियोगिता, वाद-विवाद प्रतियोगिता आदि के माध्यम से नशा सेवन की बुराइयों एवं नशामुक्ति के लाभ आदि को प्रचारित किया गया।
- अधिकारी व अन्य लोगों ने नशा न करने की ली शपथ:
नशा मुक्ति दिवस के अवसर पर पूर्वाह्न 11.00 बजे सभी पदाधिकारी, कर्मी ने मद्य निषेध की शपथ ली । साथ ही पटना में 11.30 बजे से आहूत मुख्य समारोह की लाइव वेबकास्टिंग का जिला, अनुमंडलस्तर पर प्रसारण किया गया। डीपीएम, जीविका द्वारा नशामुक्ति दिवस के अवसर पर जिले के 51 संकुल केंद्रों पर जीविका दीदियों के बीच भी शपथ दिलाई गई। साथ ही जन जागरूकता रैली, रंगोली निर्माण आदि के माध्यम से भी आमजन को जागरूक किया गया।

- लोगों को नशा करने के बारे में जागरूक करें समाजसेवी

सिविल सर्जन डॉ वीरेन्द्र चौधरी ने बताया कि युवाओं में बढ़ रहे नशे के सेवन की रोकथाम करने के लिए 26 नवंबर  को अंतर्राष्ट्रीय नशा निरोधक दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। इस अवसर पर मानसिक रोग विशेषज्ञ की टीम नशा करने वाले लोगों को जागरूक करेगी।
मादक पदार्थों के प्रति आकर्षित होने से बचाने को लेकर 26 नवंबर को जिले में अंतर्राष्ट्रीय नशा निरोधक दिवस मनाया गया। उन्होंने बताया कि अत्यधिक नशा करने वाले लोगों में डिपेंडेंस सिंड्रोम की बीमारी हो जाती है। इसके चलते मंदबुद्धि हो जाना और शरीर के अंगों का काम ना करना भी शामिल है। नशा उन्मूलन कार्यक्रम के तहत आम लोग व समाजसेवी भी शामिल होकर नशा करने वाले लोगों को नशा न करने देने को लेकर जागरूक करें, यह समाज हित में है ।
इस अवसर पर उप विकास आयुक्त, अनिल कुमार, अपर समाहर्त्ता, नंदकिशोर साह, अनिल राय सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।