आशा फैसिलिटेटर देगीं आशा दीदीयों को नया रुप : सिविल सर्जन

आशा फैसिलिटेटर देगीं आशा दीदीयों को नया रुप : सिविल सर्जन

 
वैशाली
जिले के एक नीजी होटल में सोमवार को केयर इंडिया और ऑक्सफोर्ड पॉलिसी मैनेजमेंट के सहयोग से पांच दिवसीय सहायक पर्यवेक्षण प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ। जिसका विधिवत उद्घाटन सिविल सर्जन डॉ प्रमोद कुमार सिंह ने किया। मौके पर सिविल सर्जन ने कहा कि इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य आशा फैसिलेटर के क्षमताओं का विकास करना है ताकि वह अपने अंतर्गत आशा दीदीयों का उन्मुखीकरण कर सके, उनमे स्वास्थ्य कार्यक्रम को लेकर बेहतर समझ पैदा किया जा सके। वहीं केयर इंडिया की डीटीओ ऑन कृतिका पांडेय ने कहा कि यह पांच दिवसीय प्रशिक्षण केयर और ऑक्सफोर्ड के सहयोग से किया जा रहा है। जिसमें वैशाली और बिदुपुर की कुल 23 आशा फैसिलेटर को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इस प्रशिक्षण में आशा फैसिलेटर के कॉम्युनिकेशन स्किल से लेकर उनके कामकाज को आसान और बेहतर बनाने के गुर को निखारा जाएगा। जिसमें अनेक तरह की एक्टीविटी भी करायी जाएगी। जिसे ये आशा दीदीयों को सिखाएगीं। अगले छह महीने तक इसके प्रभाव की मॉनिटरिेंग भी की जाएगी। 


समुदाय को होगा फायदा 
डीसीएम निभा सिन्हा ने कहा कि इस प्रशिक्षण से आशा फैसिलिटेटर को बेहतर कार्ययोजना से आशा दीदी और समुदाय को फायदा मिलेगा। आशा अब बेहतर समझ के साथ लोगों से मिलेगी और फायदे बताएगी। यह प्रशिक्षण एक तरह से आशा दीदीयों के व्यवहार और काम करने की क्षमता में इजाफा करेगा। जिससे मातृ मृत्युदर, परिवार कल्याण योजना, नियमित टीकाकरण एवं संस्थागत प्रसव सहित अन्य योजनाओं में फायदा मिलेगा। इसमें आशा फैसिलेटर एक तरह से अपने अंदर के स्किल का विकास कर रही हैं। इस प्रशिक्षण में वैशाली और बिदुपुर के बीसीएम ने भी भाग लिया। मौके पर सिविल सर्जन डॉ प्रमोद कुमार सिंह, डीपीएस मणि भूषण झा, केयर से कृतिका एवं ऑक्सफोर्ड से प्रशिक्षक के रूप में  अर्पणा कुल्लू, राजीव ,भागवती, श्रीनिवासन चंद्रशेखर एवं चितरंजन उपस्थित थे।