Breaking News

भारतीय नम्बर प्लेट के नेपाल में रोक पर ऑटो संचालकों ने किया हड़ताल

बैरगनिया(सीतामढ़ी):
भारत-नेपाल सीमा पर ऑटो संचालको ने रौतहट नेपाल में प्रवेश की मांग को लेकर सोमवार से अनिश्चित कालीन हड़ताल शुरू कर दिया है।दोनों देश के लोग काफी परेशान है। ऑटो यूनियन से जुड़े टेम्पो चालको ने भारत-नेपाल बॉर्डर पर अवस्थित प्रखंड कार्यालय के समीप बीच सड़क  धरना शुरू कर दिया है। ऑटो का संचालन बंद होने से लोग टमटम,ठेला पर बैठकर दुगुना,तिगुना किराया भुगतान कर बैरगनिया-गौर के बीच यात्रा कर रहे है।

वही हजारो लोगों को सर,कंधे पर गठरी,मोटरी रखकर यात्रा करते देखा गया है।नेपाल से बैरगनिया स्टेशन पर ट्रेन पकड़ने आने वाले हफीज मिया,असरफी राय,महंगू सिंह,प्रवीण जायसवाल ने बताया कि रौतहट प्रशासन को भारतीय ऑटो गौर क्षेत्र में चलने पर कोई दिक्कत नहीं थी लेकिन अदालती आदेश के आलोक में भारतीय ऑटो के रौतहट में प्रवेश पर रोक से आम आवाम को परेशानी के साथ उन्हें अत्यधिक आर्थिक, शारीरिक हनन हो रहा है। धरना पर बैठे यूनियन के नेता विनोद वालिया ने बताया कि नेपाल के गौर में ई-रिक्शा चालको के दबाब में आकर वहां के स्थानीय प्रशासन द्वारा भारतीय नम्बर प्लेट के टेम्पो के प्रवेश पर रोक लगा दी है।
जिसके कारण सैकड़ो ऑटो चालक जहां बेरोजगार हो गए है वही दोनो देशो के आम जनता को आवागमन में भारी परेशानी हो रही है। उन्होंने बताया कि नेपाल सरकार के असहयोगात्मक रवैया से आजिज होकर उनलोगों द्वारा भी नेपाली नम्बर के ऑटो को बैरगनिया में प्रवेश पर रोक लगा दिया गया है। यूनियन के चालको का कहना है कि जब तक भारतीय नम्बर के ऑटो को नेपाल में नहीं जाने दिया जाएगा तब तक नेपाली नम्बर प्लेट के ऑटो को बैरगनिया में नहीं आने दिया जाएगा। 

ऑटो चालको के हड़ताल के कारण आम लोग जहां परेशान है वही दोनो देशो के बीच के बेटी रोटी के सम्बंध भी प्रभावित हो रहा है।इस बाबत पूछे जाने पर प्रभारी थानाध्यक्ष एसएन राम ने बताया कि भारत-नेपाल ऑटो मेंस यूनियन के नेताओ से बात कर जल्द मामले का निपटारा कर लिया जाएगा।

मौके पर ऑटो चालक राहुल कुमार, उमेश पासवान,पप्पू कुमार,सुबोध कुमार, मो जिब्राइल, गोपी कुमार, गौरीशंकर जायसवाल,जितेंद्र यादव,रमेश पासवान, साजन राम, मो कलामुद्दीन,बबलू राउत, बैद्यनाथ पासवान, विश्वमोहन राम, राम प्रवेश सिंह, शम्भू पटेल, रणजीत पटेल, रौशन पटेल सहित दर्जनों लोग धरना में शामिल थे।धरना में शामिल चालक नेपाल प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की ।।

कोई टिप्पणी नहीं

Thanks for your valuable feedback.